विश्व के सात महान आश्चर्य में से एक

विश्व के सात महान आश्चर्य में से एक है• पिरामिड• पिरामिड का शाब्दिक अर्थ है सूचियां कार्य पत्थर का खंबा बताया चकोर क्षेत्र में बनी त्रिकोणीय रचना पिरामिड का अर्थ है एक ऐसा त्रिकोणीय उपकरण जो मनुष्य के भाग एवं भविष्य विचित्र रूप से प्रभावित करता है|

प्रीत का प्राचीन इतिहास मिस्र देश से शुरू हुआ है जैसा कि आप जानते हैं कि मिस्र के पिरामिड का निर्माण प्राचीन वास्तु के विभिन्न कारण निवारण विज्ञान को भी आश्चर्य में डाल देती है |उर्जा दो प्रकार से प्राप्त होती है तो सबसे ऊपर ऊर्जा को विशेष प्रकार से प्राप्त होती है कई बार अपने काम में लिया गया शक्ति की कार्यकुशलता का रहस्य आकाश और ऊंचाई और जमीन के गहराई दोनों में छिपा हुआ है| पिरामिड के अंदर रखा जल पीने से निम्न रोगों को ठीक करने में रामबाण दवा सिद्ध हुआ है| •सिरदर्द •लहू का दबाव• आंखों का रोग •मधुमेह •कमर का दर्द •कबज से दस तक •अमलपित •पेशाब के रोग •दिमाग में सूजन •ज्ञान तंत्रों की बीमारी•

सीलर्स •खुजली• दम्मा •कैंसर •शरीर जलने •घाव होने तथा लहू बहना •अनिद्रा • झुरिया •एड्स आदि अब बाजार में पिरामिड टोपी जो कागज, गते, कपड़े की बनी होती है ऐसे लोग अध्ययन करते समय ध्यान करते समय पहनते हैं| विदेशों में बच्चे की टोपी पहनकर पढ़ाई करते हैं |आजकल दूध छाछ, बेस्ट मक्खन, इत्यादि  पिरामिड कोण में मिलने लगी है|  लोगों की अवधारणा स्पष्ट हो चुकी है कि खराब नहीं होती है वैज्ञानिक प्रयोगों द्वारा प्रमाणित हो गया है कि लगातार काम रहती है निर्जीव और सजीव दोनों ही प्रकार की वस्तुओं को प्रभावित करती है वैज्ञानिकों ने पिरामिड पिरामिड पावर की संज्ञा दी है।…………………………………………………..

टेलीस्कोप के बारे में रोचक बातें::::-• 25 सितंबर 1608 को हैंस ने टोल टेलिस्कोप खोजा था| •शुरुआती दौर में टेलिस्कोप का उपयोग व्यापारी करते थे| •टेलीस्कोप के माध्यम से वह इस बात का पता लगाते थे कि समुंद्र में व्यापारियों का जहाज कितनी दूरी पर है ताकि वह अपने प्रतिद्वंदी को पछाड़ सके| •टेलीस्कोप ने हाई स्पीड कम्युनिकेशन नेटवर्क को जन्म दिया |• मिलो दूर से सिग्नल देने के लिए टेलिस्कोप का इस्तेमाल किया जाता था|• गलेलियों ने ही पहली बार टेलिस्कोप के माध्यम से आकाश को देखा था|• गलेलियों  ने हीं जुपिटर की खोज की थी |

और चांद पर गड्ढे देखे थे| लेकिन जब उन्होंने इस टेलिस्कोप के माध्यम से सूर्य को देखने की कोशिश की तो बाद में यही उनकी अंधता का कारण बना |आयरलैंड के 1845 में पहली बार 40 टन का परावर्तक टेलीस्कोप बनाया जो 7 दशको  तक विश्व का सबसे बड़ा टेलीस्कोप रहा |•हुकर टेलीस्कोप ने पहली बार दूसरी गैलेक्सी के अस्तित्व की बात साबित की और बताया कि ब्रह्मांड सिकुड़ रहा है |• नासा में 1990 में हब्बत टेलीस्कोप लांच किया इसका बजट 2 बिलियन डॉलर था | •टेलिस्कोप के 8 फुट हल्के सिसों को लगातार 1 वर्ष तक चमकाया गया ताकि 10 नैनोमीटर तक की दूरी को मापने में किसी तरह की कोई त्रुटि ना हो|• लेकिन जिन लोगों को शीशा चमकाने का काम दिया गया था वह इसे गलत तरीके से कर बैठे| •गामा -रे टेलीस्को ब्रह्मांड के बड़े विस्फोटों को सही तरीके से देखने में सक्षम माना जाता है| •रिफ्लेक्टिंग टेलिस्कोप का अविष्कार आइज़क न्यूटन ने किया था|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *